‘मेरे पास एक्टिंग स्कूल छोड़ो किताब खरीदने के भी पैसे नहीं थे’

[Total: 0    Average: 0/5]

हाल ही में फ़ोर्ब्स ने दुनिया में सबसे ज़्यादा मेहनताना लेने वाली हस्तियों की सूची जारी की थी. शाहरुख़ ख़ान, सलमान ख़ान और अक्षय कुमार के नाम इस शीर्ष 100 की सूची में शामिल हैं.

अपनी इस कामयाबी को लेकर अक्षय कुमार का कहना है, ”मैंने ये कभी नहीं सोचा था कि मेरी ज़िंदगी में ये दिन आएंगे. मेरा नाम भी ऐसी किसी सूची में शामिल होगा, क्योंकि मुझे आज भी वो दिन याद है जब मुझे एक्टिंग स्कूल के लिए पुरानी किताब ख़रीदने तक के पैसे नहीं होते थे.”

भारत की ओर से जिन हस्तियों ने इस लिस्ट में जगह बनाई है वे सभी बॉलीवुड से हैं. शाहरुख़ के बाद सलमान खान 71वें नंबर पर हैं. उनकी इस साल यानी 2016-2017 की कमाई 37 मिलियन डॉलर (करीब 233 करोड़) है.

अक्षय कुमार 35.5 मिलियन डॉलर (224 करोड़) की कमाई करके 80वें नंबर पर हैं.

अक्षय कुमार ने ख़ुशी ज़ाहिर करते हुए बीबीसी से कहा,”मुझे आज भी वो दिन याद है जब मैं मुंबई में एक्टिंग सीखना चाहता था और मेरे पास पैसे नहीं थे कि मैं एक्टिंग स्कूल में फीस दे सकूं. इसलिए मैं ‘हाउ टू लर्न एक्टिंग’ की किताब ढूंढ रहा था और वो किताब मुझे मुंबई के चर्चगेट स्टेशन के बाहर सड़क पर मिली लेकिन उस किताब की कीमत 118 रुपये थी और मेरी जेब में सिर्फ 72 रुपये थे जिसके चलते वो किताब भी नहीं ख़रीद पाया.”

”मुझे वो किताब ना ख़रीद पाने का बहुत अफ़सोस हो रहा था लेकिन उस किताब के दूसरे पन्ने पर एक बात लिखी थी जो मुझे बहुत पसंद आई. उसमें लिखा था कि एक अच्छा एक्टर बनने के लिए ज़रूरी है पहले एक अच्छा आदमी बनना. वैसे आपको बता दूं कि पैसे आ जाने के बाद उस किताब को बहुत ढूंढा लेकिन वो नहीं मिली.”

कई कहानियां किताबों में ही रह गईं

अक्षय ने कई बायोपिक जैसी फ़िल्मों पैडमैन, एयरलिफ़्ट, रुस्तम में काम किया है और अब गोल्ड और केसरी जैसी फ़िल्में कर रहे हैं.

अक्षय कहते हैं कि गोल्ड हॉकी पर बनी फिल्म है. भारत को 1948 में गोल्ड मिला था लेकिन उस समय देश में इतना कुछ हो रहा था कि इस बात पर किसी का ज़्यादा ध्यान नहीं गया. हमारे देश में महात्मा गांधी और जवाहर लाल नेहरू के बारे में सब जानते हैं लेकिन और भी कई ऐसे हीरो हैं जिन्होंने देश के लिए बहुत कुछ किया लेकिन उनकी कहानी किताबों में ही दब कर रह गई.

हिमा दास पर बने फ़िल्म

कई बायोपिक फिल्मों में काम करने वाले अक्षय अपनी ज़िन्दगी पर फ़िल्म बनाने और किताब लिखने के सख़्त ख़िलाफ़ हैं.

उनका कहना है, “मैं अपने आपको इतना काबिल नहीं मानता जिस पर कोई फ़िल्म बने या किताब छपे. हम तो फिल्मों के हीरो हैं लेकिन हमारे बीच ऐसे रियल लाइफ हीरो हैं जिन पर फिल्म बननी चाहिए जैसे हिमा दास. वो सिर्फ 19 साल की एक लड़की है जो रनिंग ट्रैक पर गोल्ड मैडल जीतने वाली भारत की पहली महिला है.”

”अक्सर हम भारतीय गोली चलाने, तीर कमान चलाने में और बाकि खेलों में गोल्ड मैडल जीतते आये हैं लेकिन जिस खेल में भाग दौड़ हो उसमें हम हमेशा पीछे रह जाते हैं. लेकिन उस लड़की ने कमाल कर दिया और मेरे लिए खिलाडियों की खिलाड़ी है हिमा दास.”

अक्षय का कहना है कि हमें हर खेल को अपनाना चाहिए और हर किसी को कोई ना कोई स्पोर्ट्स खेलते रहना चाहिए. अक्षय कुमार की फिल्म गोल्ड 15 अगस्त को रिलीज़ हो रही है.

फिल्म ‘गोल्ड’ को रीमा कागती डायरेक्ट कर रही हैं. एक्सेल एंटरटेनमेंट के बैनर तले बनी इस फिल्म को रितेश सिधवानी और फरहान अख्तर प्रोड्यूस कर रहे हैं.

अक्षय कुमार के अलावा इसमें मौनी रॉय, सनी कौशल, कुणाल कपूर और अमित साध जैसे कलाकार नज़र आएंगे.

source: bbc.com/hindi

Leave a Reply